Book Cover
दिल्ली के ऐतिहासिक गुरुद्वारे
Paper Type: 130 gsm art paper (matt) | Size: 190mm x 178mm
All colour; 87 photographs
ISBN-10: 93-86906-68-7 | ISBN-13: 978-93-86906-68-7

 795

एक प्रसिद्ध इतिहासकार और कला, शिल्प और सामाजिक-सांस्कृतिक अध्ययन के विशिष्ट विद्वान  एम.के. पाल द्वारा लिखित ‘दिल्ली के ऐतिहासिक गुरुद्वारे, एक गहन अनुसंधान और अध्ययन का परिणाम है जो इन धार्मिक स्थलों के महत्त्व और उनकी ऐतिहासिक और सामाजिक-सांस्कृतिक पृष्ठभूमि को उजागर करती है। सिख इतिहास के अनुसार कई गुरुओं के चरण पड़ने से पवित्र हुए गुरुद्वारे दिल्ली शहर के विभिन्न हिस्साें में स्थित हैं। यह पुस्तक एक महान सिख धर्म के अनुयायियों के लिए इन तीर्थों के महत्व को सही ढंग से समझने के लिए आवश्यक प्रासंगिक जानकारी एकत्र करने का प्रयास करती है। इस पुस्तक से कई दिलचस्प दंतकथाओं और प्रत्येक गुरुद्वारे के निर्माण से जुड़ी कहानियों का पता चलता है, जो गुरुओं द्वारा अपने धर्म और आस्था के लिए किये गये संघर्ष और कठिनाइयों के अनुस्मारक के रूप में मौजूद है और आज भी सिख समुदाय के हृदय और मानस में सिख धर्म की आत्मा को जीवन्त रखने में सहायक है।



M. K. Pal
M. K. Pal
Author
Dr. M.K.Pal has been an ardent researcher in the field of arts and crafts and socio-cultural studies for more than four decades. As a Museum professional especially during his tenure in the National Handicrafts and Handlooms Museum, New Delhi, Dr. Pal has conducted several projects.As a Consultant of the National Museum of Ethnology, Osaka, Japan (1980-1995) he has collected/documented hundreds of Indian artefacts which now form the bulk of collection of the Indian Section of the said museum.He has also designed and got made a 35-feet replica of the old wooden Ratha (Temple Car) now preserved in the Parthasarathi Temple, Chennai. As a Connoisseur of Indian art and culture, Dr. Pal has also organized some folk cultural programmes in Japan, France and Switzerland during the years 1991 and 1997.As an author of a number of publications in the form of illustrated books, monographs, papers and articles on Indian art and culture and craft heritage. His present work is the result of his painstaking research and field investigations that are eventually permeated through the inner perspectives of impregnated ideas and thoughtful revelations.